Ultimate magazine theme for WordPress.

कोरोना लॉकडाउन ने तोड़ी पाकिस्तान की कमर, देश की GDP में 68 साल की पहली गिरावट

0

पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था के आकार में 2019-20 में 68 साल में पहली बार गिरावट आई है। बृहस्पतिवार (11 जून) को पेश आर्थिक समीक्षा में कहा गया कि इस दौरान पाकिस्तान के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 0.38 प्रतिशत की गिरावट आई है।

वित्त मामलों पर सलाहकार अब्दुल हफीज शेख ने आर्थिक समीक्षा जारी करते हुए कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण अर्थव्यवस्था को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। इसने सरकार को मार्च में कई हफ्तों तक लॉकडाउन लागू करने के लिए मजबूर किया है।

कोरोना वायरस से पाकिस्तान में अब तक में लगभग 1,20,000 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इसने 30 जून को समाप्त हुए चालू वित्त वर्ष में पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को बुरी तरह प्रभावित किया है। आर्थिक समीक्षा के अनुसार, महामारी से पहले ही आर्थिक स्थिरीकरण नीतियों के कारण उद्योग जगत प्रभावित था।

इमरान खान के मदद के प्रस्ताव पर भारत ने पाकिस्तान को दिखाया आईना

इसके साथ कोरोना वायरस के प्रतिकूल प्रभावों के कारण वित्त वर्ष 2019-20 में अर्थव्यवस्था में 0.38 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। यह पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था में 68 सालों में पहली बार आई गिरावट है। समीक्षा के अनुसार, कृषि क्षेत्र में 2.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। हालांकि इसके अलावा, औद्योगिक और सेवा क्षेत्रों में गिरावट देखी गई।

इस दौरान डॉलर के हिसाब से प्रति व्यक्ति आय भी 6.1 प्रतिशत कम होकर 1,366 डालर पर आ गई। हालांकि यह रुपए के संदर्भ में बढ़कर 214,539 रुपए हो गई। पाकिस्तान सरकार 12 जून को नया बजट पेश करने वाली है।

पाकिस्तान में कोरोना से 2,356 की मौत
देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 119,536 हो गई है।  पाकिस्तान के राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में कम से कम 5,834 मामले सामने आए हैं और देश में कुल संक्रमितों की संख्या 119,536 हो गई है। वहीं अब तक 2,356 मरीजों की मौत हो चुकी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.